जाने पायल पहनने के हैं ढेरों फायदे

0

जाने पायल पहनने के  हैं ढेरों फायदे There are many advantages to wearing anklets

  • पायल पैरों की सुंदरता को बढ़ाती है जिसे पहेन कर महिलाओं की सुंदरता में चार चाँद लग जाते हैं।
  • पायल पैरो की सुंदरता के साथ पैरों की हड्डियां भी मजबूत बनाती है जिससे आपके पैर स्वस्थ रहते हैं।
  • पायल पहनने से शरीर के तापमान को संतुलित रखती है।
  • [AdSense-A]

आज कल पायल पहेनना एक फैशन सा हो गया है जिसे आज की भाषा में कहे तो अन्क्लेट कहा जाता है परन्तु भारतीय परंपरा में महिलाओं का पायल पहनना अनिवार्य होता  है। क्योकि हमारे बड़े बुज़ुर्ग इसे पहेनने में  कुछ आदर-सम्मान तथा अच्छे बुरे के कारण गिनाते हैं। परन्तु  पायल को पहेनने से अच्छा या बुरा परिणाम मिलने के साथ – साथ  कुछ स्वास्थ्य संबंधी लाभदायक परिणाम भी मिलते है, जिससे महिलाओं को स्वस्थ रखने का काम करती हैं।

पैरों की सुंदरता बढ़ाती है पायल 

पायल पैरों की सुंदरता में चार चांद लगा देती है, इससे पैर सुंदर लगने के साथ ही आकर्षित भी लगने लगते हैं  । महिलाओं की  पायल की छनछन आज भी पुरुषों को अपनी ओर आकर्षित करने का एक अच्छा उपाय है। इस लिए महिलाओं के सोलह श्रृंगार में  पायल को शामिल किया गया है। जिससे बे सुंदर लगने के साथ ही आकर्षक  भी लगे

पायल की छम-छम से पुरुष होते थे सतर्क

[AdSense-A]

पुराने जमाने में घर की हर महिला को पायल पहनाई जाती थी। ऐसा इसलिए कि उनके पायल की आवाज से पहले ही घर के पुरुषों को पता चल जाता था पायल की छम-छम की आवाज एक प्रकार से संकेत का काम करती थी कि घर की कोई महिला आ रही है और वो व्यवस्थित हो जाते थे। जिससे पायल की आवाज महिला और पुरुष दोनों को किसी भी असहज होने वाली स्थिति से बचा लेती थी इसलिए पुराने जमाने में घर में महिलाओं का पायल पहनना जरूरी माना जाता था।

स्वास्थ्य सम्बन्धी लाभ

पायल पहनने से महिलाओं को कई तरह के स्वास्थ्य सम्बंधी लाभ होते हैं । लेकिन ये लाभ चांदी से बनी पायल से ही प्राप्त होते  हैं। क्योकि पायल हमेशा पैरों से रगड़ती रहती है। जिससे पायल के धातु के तत्व त्वचा से रगड़ खाकर शरीर के अंदर चले जाते हैं तथा  हड्डियों को मजबूती प्रदान करते हैं। इसी कारण माना जाता है कि पायल पहनने से हड्डियो में मजबूती आती है। आयुर्वेद में भी इन धातुओं के भस्म का उपयोग दबाई में किया जाता है। धातुओं की भस्म से जैसे  फायदे होते हैं वैसे ही पैरों में पायल पहनने से बहुत से फायदे होते हैं।

 शरीर का तापमान बैलेंस बनाकर रखती है पायल 

[AdSense-A]

सोने को  पैर में नहीं पहेनना चाहिए क्योकि सोने की तासीर गर्म होती है जबकि चांदी की तासीर ठंडी होती है। आयुर्वेद की माने तो  मनुष्य के पैर गर्म तथा सिर ठंडा होने चाहिए। इसी कारण लोग सिर पर सोना तथा पैरों में चांदी पहेनते है। इससे सिर से उत्पन्न गर्म ऊर्जा पैरों में तथा  पैरों से पैदा हुई ठंडी ऊर्जा सिर में चली जाती है जिससे पूरे शरीर का तापमान संतुलन में रहता है।

पायल की आवाज दूर करती है नकारात्मक ऊर्जा

वास्तुशास्त्र के अनुसार ये माना जाता है की पायल की आवाज से घर की नकरात्मक शक्तियां कम हो जाती हैं तथा  दैवीय शक्तियां अधिक सक्रिय हो जाती हैं इससे घर में शांति बनी रहती है ।

Share.

About Author

Leave A Reply