गर्भ के पांचवे महीने में कैसा हो खान पान

0

Diet during fifth month of pregnancy

जब गर्भावस्‍था के पांच महीने पुरे हो जाते हैं तो भ्रूण का काफी हद तक विकास हो चुका होता है। इस समय अभूत ज़रूरी होता है महिलाओं को अपनी सेहत का ख्याल रखना चाहिए ।अगर महिलाये अपने खान पान में थोड़ी सी भी लापरबाही बरतती हैं तो इसका सीधा असर गर्भ में पल रहे बच्चे की सेहत पर पड़ता है।यदि माँ अपना ध्यान रखेगी तभी गर्भ में पल रहे बच्चे का ध्यान रख पायेंगी।

[AdSense-A]

गर्भावस्था के पांचवें महीने में क्या खाएं –

  • गर्भ के पांचवे महीने में महिलाओं को कम से कम 5 पाउंड बजन बढ़ाना चाहिए।महिलाओं को अपनी गर्भावस्था की दूसरी तिमाही में पहले की तुलना में 347 अधिक कैलोरी खाने में शामिल करना चाहिए।इसके अलावा, प्रोटीन,कैल्शियम और अतिरिक्त कैलोरी को भी अपने खान पान  में शामिल करना चाहिए।
  • जब माँ गर्भावस्था के पांचवे महीने में हो तो उसे समुद्री मचली और मांस नही खाना चाहिए ।
  • [AdSense-A]
  • बहार का खाना खाने से बचे और सिगरेट एवं धुम्रपान से बचें।
  • फल व हरी सब्जियां का सेवन ज्यादा करे। अगर आपको फल व हरी सब्जी खाने का मन नहीं होता है तो आप उनका जूस निकाल कर पी सकती हैं।
  • गर्भावस्था के पांचवें महीने में आप वसा और मक्खन अपने आहार में ले सकती हो।
  • गर्भावस्था के पांचवें महीने में 2-3 ग्लास मिल्क पीना चाहिए क्युकि मिल्क में कैल्शियम होता है ।
  • गर्भावस्था के पांचवें महीने में दाल ज्यादा खानी चाहिए। इसमें प्रोटीन होती है जो बच्चे के बिकास के लिए लाभदायक है।
  • एक फाइबर युक्त आहार के रूप में उच्च फाइबर खाद्य पदार्थ खाना गर्भवती महिलाओं के लिए बहुत से लाभ हो सकता है। अपने आहार में फाइबर युक्त खाद्य पदार्थ भी अगर आपको लगता है कि यह स्वाद या विविधता का अभाव शामिल करें।
  • [AdSense-A]
  • फाइबर युक्त खाद्य पदार्थ अपने आहार में लें इससे बेबी के बिकास में लाभ मिलेगा।
  • जब भी आप नाश्ता कर रहे हैं या भोजन कर रहे है, तो चिप्स , अचार और जैतून उच्च खाद्य पदार्थों से बचें।
  • बहुत ज्यादा मात्रा  में चोक्लेट गर्ववती महिला के लिए नुक्सान दायक होती है क्योकि चोक्लेट में  कैफीन अधिक मात्रा में पाया जाता है
Share.

About Author

Leave A Reply